अच्छे बनो (Achchhe Bano)

अच्छे बनो (Achchhe Bano)
₹8.00
Book Code: 0425
प्रस्तुत पुस्तक में व्यवहार तथा परमार्थ-सम्बन्धी अनेक लेखों का संग्रह किया गया है।
Description

Details

मानव अपने उद्धार और पतन का दायित्व स्वतः वहन करता है, अतः उसे कर्तव्य-कर्म को शास्त्रोचित ढंग से सम्पादित करते हुए केवल उत्कट अभिलाषा से परमात्मज्ञान प्राप्त कर जीवन के लक्ष्य को प्राप्त कर लेना चाहिये। प्रस्तुत पुस्तक में व्यवहार तथा परमार्थ-सम्बन्धी अनेक लेखों का संग्रह किया गया है।

The book is a collection of different articles of Swami Ramsukhdas. The book suggests to engage in actions worth doing and refrain from the actions unworthy of doing as enjoined in scriptures. The book describes how to attain the ultimate aim of human life, moral conduct and selfless service.

Additional Information

Additional Information

Book Code 0425
Pages 80
Language हिन्दी, Hindi
Author स्वामी रामसुखदास, Swami Ramsukhdas
Size (cms.) 13.3 x 20.3