नवदुर्गा (Nav Durga)

नवदुर्गा (Nav Durga)
₹15.00
Book Code: 0205
इस पुस्तक में भगवती दुर्गा के नवों स्वरूपों के उद्भव, विकास, उपासना तथा उपासना से प्राप्त होनेवाले फलों का अत्यन्त सुन्दर वर्णन किया गया है। पुस्तक में आर्ट पेपर पर माँ दुर्गा के नवों स्वरूपों के आकर्षक तथा रंगीन चित्र भी दिये गये हैं।
Description

Details

सृष्टि की आदि शक्ति भगवती दुर्गा की धर्मशास्त्रों में अतुलनीय महिमा बतलायी गयी है। नवरात्र के नौ दिनों में इनके नौ स्वरूपों की उपासना की जाती है। इस पुस्तक में भगवती दुर्गा के नवों स्वरूपों के उद्भव, विकास, उपासना तथा उपासना से प्राप्त होनेवाले फलों का अत्यन्त सुन्दर वर्णन किया गया है। पुस्तक में आर्ट पेपर पर माँ दुर्गा के नवों स्वरूपों के आकर्षक तथा रंगीन चित्र भी दिये गये हैं।

The scriptural books are replete with the glory of Goddess Durga, the primeval power of the creation. Her nine forms are worshiped during Navaratra. This book contains the origin of Goddess Durga's nine forms, means of worship and adoration and the fruits thereof. Attractive and coloured pictures of mother Durga on fine art paper has been given therein.

Additional Information

Additional Information

Book Code 0205
Pages 20
Language हिन्दी, Hindi
Author गीता प्रेस
Size (cms.) 19.0 x 28.0