शिवोपासना अंक (Shivopasana Ank)

शिवोपासना अंक (Shivopasana Ank)
₹130.00
Book Code: 0586
इस विशेषांक में भगवान् शिव से सम्बन्धित तात्त्विक निबन्धों के साथ शास्त्रों में वर्णित शिव के विविध स्वरूप, शिव-उपासना की मुख्य विधाएँ, पञ्चमूर्ति, दक्षिणामूर्ति, ज्योतिर्लिंग, नर्मदेश्वर, नटराज, हरिहर आदि विभिन्न स्वरूपों के विवेचन, आर्ष ग्रन्थों के आधारपर शिव-साधना की पद्धति, भारत के विभिन्न प्रदेशों में अवस्थित शिव मन्दिर तथा शैव तीर्थों का विस्तृत परिचय और विवरण आदि है।
Description

Details

इस विशेषांक में भगवान् शिव से सम्बन्धित तात्त्विक निबन्धों के साथ शास्त्रों में वर्णित शिव के विविध स्वरूप, शिव-उपासना की मुख्य विधाएँ, पञ्चमूर्ति, दक्षिणामूर्ति, ज्योतिर्लिंग, नर्मदेश्वर, नटराज, हरिहर आदि विभिन्न स्वरूपों के विवेचन, आर्ष ग्रन्थों के आधारपर शिव-साधना की पद्धति, भारत के विभिन्न प्रदेशों में अवस्थित शिव मन्दिर तथा शैव तीर्थों का विस्तृत परिचय और विवरण आदि है।

This special number of Kalyan describes beautifully different articles on the absolute Shiv, various forms of Shiv presented in scriptures, main procedure of worshiping Shiv, Pancha-Murti, Dakshin-Murti, Jyotirling, Narmadeshwar, Natraj, Harihar and other form of Shiv based on religious books. The book also includes the authentic information of different Shiv temples situated in different provinces and Shiv pilgrimages.

Additional Information

Additional Information

Book Code 0586
Pages 463
Language हिन्दी, Hindi
Author गीता प्रेस
Size (cms.) 19.0 x 28.0