पातंजल योग दर्शन (Patanjal Yog Darshan)

पातंजल योग दर्शन (Patanjal Yog Darshan)
₹20.00
Book Code: 0135
प्रस्तुत पुस्तक में महर्षि पतञ्जलि कृत योगदर्शन का सम्पूर्ण मूल, प्रत्येक सूत्र का एक-दूसरे से सम्बन्ध एवं शब्दार्थ के साथ श्री हरिकृष्णदास जी गोयन्दका कृत सरल एवं सुबोध व्याख्या है।
Description

Details

योगदर्शन साधकों के लिये अत्यन्त उपयोगी और महत्त्वपूर्ण शास्त्र है। प्रस्तुत पुस्तक में महर्षि पतञ्जलि कृत योगदर्शन का सम्पूर्ण मूल, प्रत्येक सूत्र का एक-दूसरे से सम्बन्ध एवं शब्दार्थ के साथ श्री हरिकृष्णदास जी गोयन्दका कृत सरल एवं सुबोध व्याख्या है। Yog Darshan is very useful and important literature for devotees. This book contains Yog-Darshan authored by Maharshi Patanjali. It has entire original text, meaning of each sutra and commentary by Shri Hari Krishna Das Ji Goyandka.
Additional Information

Additional Information

Book Code 0135
Pages 144
Language हिन्दी, Hindi, संस्कृत, Sanskrit
Author महर्षि पतञ्जलि, Maharshi Patanjali
Size (cms.) 13.3 x 20.3