आदर्श देवियाँ (Adarsh Deviyan)

आदर्श देवियाँ (Adarsh Deviyan)
₹6.00
Book Code: 0291
ब्रह्मलीन श्री जयदयाल जी गोयन्दका द्वारा पराम्बा, सीता, देवी कुन्ती, द्रौपदी, गान्धारी के जीवन-चरित्र का अनूठा चित्रण, जिसमें उनके पति-प्रेम, पति-सेवा, त्याग, सहिष्णुता, निर्भयता आदि गुणों के विषय में ऐसा मनोहर वर्णन किया गया है जिसे पढ़कर आँखों से प्रेमाश्रु छलक पड़े।
Description

Details

ब्रह्मलीन श्री जयदयाल जी गोयन्दका द्वारा पराम्बा, सीता, देवी कुन्ती, द्रौपदी, गान्धारी के जीवन-चरित्र का अनूठा चित्रण, जिसमें उनके पति-प्रेम, पति-सेवा, त्याग, सहिष्णुता, निर्भयता आदि गुणों के विषय में ऐसा मनोहर वर्णन किया गया है जिसे पढ़कर आँखों से प्रेमाश्रु छलक पड़े।

A vivid portrayal of the biographies of Sita, Kunti, Draupadi, Gandhari has been given in this book in which their conjugal love, duties towards their husbands, renunciation, their fearlessness, their forbearance etc., have beautifully been depicted.

Additional Information

Additional Information

Book Code 0291
Pages 64
Language हिन्दी, Hindi
Author जयदयाल गोयन्दका, Jayadayal Goyandka
Size (cms.) 13.3 x 20.3