प्रेम दर्शन (Prem Darshan)

प्रेम दर्शन (Prem Darshan)
₹15.00
Book Code: 0341
इस पुस्तक में भक्ति-दर्शन के प्रधान आचार्य देवर्षि नारद-कृत नारद-भक्तिसूत्र की श्री हनुमानप्रसाद जी पोद्दार द्वारा सर्वजनोपयोगी, बोधगम्य तथा सरल व्याख्या की गयी है।
Description

Details

इस पुस्तक में भक्ति-दर्शन के प्रधान आचार्य देवर्षि नारद-कृत नारद-भक्तिसूत्र की श्री हनुमानप्रसाद जी पोद्दार द्वारा सर्वजनोपयोगी, बोधगम्य तथा सरल व्याख्या की गयी है।

This book is a commentary by Sri Hanuman Prasad Poddar, in a language very lucid and simple useful for everybody on Aphorisms on Divine Love composed by Narad the crest jewel of devotees.

Additional Information

Additional Information

Book Code 0341
Pages 176
Language हिन्दी, Hindi
Author हनुमान प्रसाद पोद्दार
Size (cms.) 13.3 x 20.3